Thursday, April 24, 2008

एक दिन कम्प्यूटर के बिना

आदतें कितनी जल्दी गुलाम बना लेती हैं. हालत ये हो गई है कि अब एक दिन के लिए भी कम्प्यूटर (और इंटरनेट) बिल्कुल छोड़ देना लगभग खाना छोड़ने जैसा मुश्किल लगता है. पर मैंने कई बार ऐसा करके देखा है और पाया है कि वो दिन बड़ा बढ़िया गुजरता है. तीन मई को कुछ लोग (डेनिस बाइस्ट्रोव और आशुतोष राजेकर के आह्वान पर) फिर ऐसा करने का बहाना दे रहे है - मौका है शटडाउन दिवस का. चलिए, मेरा कम्प्यूटर तो बंद रहेगा. आप भी कहीं घूम आइए.

2 comments:

Hajari Prasad said...

कृपया http://www.dainiktricks.com ब्लॉग को भी इसमें शामिल करें, इसमें android mobiles, internet, facebook, whatsapp tricks से सम्बंधित जानकारी दी जाती है।

VEER BAHADUR YADAV said...

Pls send me whatshop number my blog
& my whatshop number 9628384671
www.maadurgacomputercenter.blogspot.in