Wednesday, May 09, 2007

आज तक का सबसे बड़ा भाषाई सर्वेक्षण

भारतीय भाषाओं का पहला सर्वेक्षण 1898 में जॉर्ज ग्रियर्सन के नेतृत्व में शुरू हुआ था और 1927 में सम्पन्न हुआ. 29 साल लम्बे चले इस प्रयास में तत्कालीन भारत में बोली जाने वाली करीब 800 भाषाओं/बोलियों पर विस्तृत सर्वेक्षण किया गया था. भारतीय भाषाओं और बोलियों के बारे में हमारा ज्ञान काफ़ी हद तक उस सर्वेक्षण और उस पर बाद में किए गए ढेरों शोध प्रबंधों पर आधारित है.

ख़ुशी की बात है कि उस पहले सर्वेक्षण के लगभग 80 सालों बाद अगला और स्वतंत्र भारत का पहला भाषाई सर्वेक्षण इस महीने शुरू होने जा रहा है. यह न्यू लिंग्विस्टिक सर्वे ऑफ़ इंडिया (NLSI) एक महा-अभियान है जो करीब 10 सालों तक चलेगा. 280 करोड़ रुपयों के बजट वाली इस परियोजना में लगभग 100 विश्वविद्यालय, कई संस्थाएँ, और कम से कम 10000 भाषाविद और भाषा-विशेषज्ञ योगदान देंगे. निर्देशन का काम भारतीय भाषा संस्थान के जिम्मे है.

यह सर्वेक्षण पूरी दुनिया में आज तक का सबसे बड़ा राष्ट्रीय भाषाई सर्वेक्षण है. इस परियोजना में भारत में बोली जाने वाली हर भाषा व बोली का वर्णन होगा. इसके अलावा शब्दकोश, व्याकरण रूपरेखाएँ, दृष्य-श्रव्य मीडिया, और भाषाई नक्शे भी तैयार किए जाएँगे, जिन्हें बाद में वेब पर भी उपलब्ध कराया जाएगा.

ग्रियर्सन का पहला भारतीय भाषा सर्वेक्षण एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी. पर उसमें कई कमियाँ और ख़ामियाँ रह गईं थीं, जिनमें तत्कालीन मद्रास, हैदराबाद, और मैसूर राज्यों को शामिल नहीं किया जाना और सर्वेक्षकों का पर्याप्त शिक्षित नहीं होना (ख़ासकर भाषाविज्ञान के क्षेत्र में - इस काम में अधिकतर पोस्टमैनों और पटवारियों की मदद ली गई थी) मुख्य थीं. पर तमाम ख़ामियों के बावजूद यह हमारे लिए अपनी भाषाओं को जानने का एकमात्र और सबसे महत्वपूर्ण प्रामाणिक दस्तावेज़ है.

नया भारतीय भाषाई सर्वेक्षण उन कमियों से सीखकर आधुनिक भारत की बोलियों से हमें परिचित करवाएगा, ऐसा विश्वास है. आगे आने वाली कई पीढ़ियों के लिए तो सन्दर्भ ग्रन्थ होगा ही. इस महा-अभियान के लिए शुभकामनाएँ.

14 comments:

मिर्ची सेठ said...

विनय जी

बहुत बढ़िया खबर दी आपने। सुनकर मजा आया। इस सर्वेषण में हम लोग भी किसी तरह से योगदान दे सकते हैं क्या। जैसे कि कम्पयूटक सहयोग, डैटा कलैक्शन की तकनीकें, इंटरनेट का उपयोग कैसे किया जा सकता है। विभिन्न टीमें यदि अपना अपना ब्लॉग शुरु करें तो क्या मजा आए उनकी प्रगति देखने का। विकी का प्रयोग भी समझ में आता है।

पंकज

Pramod Singh said...

अच्‍छी खबर बताई.. शुक्रिया.

हरिराम said...

"हर चार कोस पर पानी बदल जाता है, बीस कोस पर बोली" ऐसी एक कहावत है न? हालांकि यह सर्वेक्षण बहुत उपयोगी होगा, फिर भी कुछ शंकाएँ मन में उपज रही हैं---

ग्रियर्सन के सर्वेक्षण के आधार पर अंग्रेज-सरकार ने भाषायी आधार पर भारत के टुकडे टुकड़े करके अनेक प्रान्त बना दिए थे, अब इस सर्वेक्षण के आधार पर क्या इरादा है? बोली के आधार पर जिलों में बाँटने का? 280 करोड़ रुपये भी क्या विश्वबैंक या आईएमएफ ब्याज पर दे रहा है?

सभी भाषाओं और बोलियों में समान तत्वों की तलाश करके एक-दृढ़-सूत्र में पिरोने की कहीं ज्यादा जरूरत है अब?

इसका आधा धन व श्रम भी यदि एक राष्ट्रभाषा (हिन्दी) को सही रीति लागू करने के लिए खर्च किया जाता तो राष्ट्रीय आय में लाखों करोड़ रुपये की बचत होती।

v9y said...

पंकज:
10 साल बड़ी लम्बी अवधि है और मुझे लगता है कि इस परियोजना के चलते चलते इससे सम्बन्धित ब्लॉग और सूचनात्मक वेबसाइटें देखने को मिलेंगी.

हरिराम जी:
मेरी राय में यह पूर्णतया अकादमिक मामला है और इसे राजनीति से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. जहाँ तक भाषा के आधार पर राज्यों के बँटवारे की बात है क्या ये काम हमारी अपनी सरकार ने नहीं किया था? इस पर बहस की गुंजाइश हो सकती है पर भारत में प्रशासनिक क्षेत्रों (राज्यों) की सीमाएँ खींचने के लिए भाषा से बेहतर विकल्प कम दिखते हैं. तीसरी बात कि हमें हिंदी को राष्ट्रभाषा कहने से तब तक गुरेज़ करना चाहिए, जब तक यह आधिकारिक रूप से राष्ट्रभाषा मान नहीं ली जाती. इससे हमारी बाक़ी बात का वजन भी कम होता है. और मुझे नहीं लगता कि बाक़ी भारतीय भाषाओं की बेहतरी से हिंदी का कोई नुकसान है. जैसा किसी विद्वान ने कहा था, हिंदी का आंदोलन निज-भाषा का आन्दोलन है.

rachana said...

जानकारी और हरिराम जी के जवाब मे आपके वि़चार दोनो उपयोगी है.....धन्यवाद.

Moonga lal said...

मेरे विचार से यह बहुत ही अच्छा निर्णय और प्रयत्न है | अलग अलग भाषाएं अलग अलग रीतियाँ यह सब तो हमारे भारत की शान रही है और हमें पूरी कोशिश करते रेहना चाहिए की भारत की अनेकता में एकता बनी रहे | अगर लोगों को एह मेहसूस होगा की उनकी भाषा को इज़्ज़त दी जा रही है तो वो दूसरी भाषाओं को भी मान देंगे | ऐसी चीज़ों से भारतीयों की भारत की भाषाओं के बारे में भी जानकारी बढ़ेगी | जागरूकता बढ़ेगी | जिसकी आज बहुत ज़रूरत है | इतना ही नहीं हमें हिंदी के साथ साथ बाक़ी भाषाओं के कम्यूटर पर प्रयोग के तरीक़े निकालने चाहिए | ऐसी चीज़ें बनाने वालों को पुरस्कार देना चाचिए | मेरी जानकारी में quillpad.in में हिंदी के अलावा कई भाषाओं को आसानी से कम्यूटर पर लिक्खा जा सकता है |

मूँगा लाल

flat television said...

black mold exposureblack mold symptoms of exposurewrought iron garden gatesiron garden gates find them herefine thin hair hairstylessearch hair styles for fine thin hairnight vision binocularsbuy night vision binocularslipitor reactionslipitor allergic reactionsluxury beach resort in the philippines

afordable beach resorts in the philippineshomeopathy for eczema.baby eczema.save big with great mineral makeup bargainsmineral makeup wholesalersprodam iphone Apple prodam iphone prahacect iphone manualmanual for P 168 iphonefero 52 binocularsnight vision Fero 52 binocularsThe best night vision binoculars here

night vision binoculars bargainsfree photo albums computer programsfree software to make photo albumsfree tax formsprintable tax forms for free craftmatic air bedcraftmatic air bed adjustable info hereboyd air bedboyd night air bed lowest pricefind air beds in wisconsinbest air beds in wisconsincloud air beds

best cloud inflatable air bedssealy air beds portableportables air bedsrv luggage racksaluminum made rv luggage racksair bed raisedbest form raised air bedsaircraft support equipmentsbest support equipments for aircraftsbed air informercialsbest informercials bed airmattress sized air beds

bestair bed mattress antique doorknobsantique doorknob identification tipsdvd player troubleshootingtroubleshooting with the dvd playerflat panel television lcd vs plasmaflat panel lcd television versus plasma pic the bestThe causes of economic recessionwhat are the causes of economic recessionadjustable bed air foam The best bed air foam

hoof prints antique equestrian printsantique hoof prints equestrian printsBuy air bedadjustablebuy the best adjustable air bedsair beds canadian storesCanadian stores for air beds

migraine causemigraine treatments floridaflorida headache clinicdrying dessicantair drying dessicantdessicant air dryerpediatric asthmaasthma specialistasthma children specialistcarpet cleaning dallas txcarpet cleaners dallascarpet cleaning dallas

vero beach vacationvero beach vacationsbeach vacation homes veroms beach vacationsms beach vacationms beach condosmaui beach vacationmaui beach vacationsmaui beach clubbeach vacationsyour beach vacationscheap beach vacations

bob hairstylebob haircutsbob layeredpob hairstylebobbedclassic bobCare for Curly HairTips for Curly Haircurly hair12r 22.5 best pricetires truck bustires 12r 22.5

washington new housenew house houstonnew house san antonionew house ventura

said...

出産祝い絵本の世界から飛び出した出産祝いプリンセス・リリーフェー☆出産祝いあなたのプリンセスルームを演出し

said...

知多半島 旅館多の海の幸を心ゆくまでご知多半島 旅館堪能いただける、数々のご宿泊プランをご用意して知多半島 旅館、皆様のお越しをお待ちいたしております。 

said...

浮気調査の依頼、浮気調査のご相談は浮気調査のエキスパート、創業30年の浮気調査のアーガスリサーチ探偵事務所へどうぞ。

said...

盲導犬ユーザーの皆さまが大手ECサイトで商品をご購入される際、グリーンクリックを経由していただくだけでECサイトから支盲導犬。グリーンクリックを利用することで、商品の購入価 格が変わったり、寄付の

said...

埼玉 不動産不動産 広島,岡山/四国(香川,徳島,愛媛,高知) 埼玉 不動産 -あなぶき不産ナビ埼玉 不動産四国4県、岡山の不動産、埼玉 不動産広島の不動産など不動産情報検索(マンション・一戸建て・土地・収益物件等)サイトです埼玉 不動産。穴吹不動産流通株式会社"

said...

障害者月で克服したマル秘テクニックを紹介します!障害者ネイティブによるスピーディな授業はまさに圧巻の

said...

出会いサイト★業界no.1★圧倒的登録数で催促近距離アポが可能出会いサイト!素人獲得数も、広告部数も業界最多!"